‘पद्मावती’ विवाद एक सोचे समझे दल की साजिश : ममता बनर्जी

0
194

‘पद्मावती’ को लेकर विवाद थमने का नाम नही ले रहे है, इसी बीच इस कड़ी में एक नया मुद्दा और नया बयान जुड़ गया हैं। जहां फ़िल्म की रिलीस डेट को बदलने का फैसला लिया गया वही इस फैसले के बाद, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बड़ा बयान दिया है और निन्दकों का विरोध किया हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को संजय लीला भंसाली की ऐतिहासिक फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर पैदा हुए विवाद की निंदा की। उन्होंने इसे अभिव्यक्ति की आजादी को खत्म करने के लिए ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ और ‘सुनियोजित’ प्रयास बताया।

ममता ने ट्वीट किया, “‘पद्मावती’ विवाद न सिर्फ दुर्भाग्यपूर्ण है, बल्कि हमारी अभिव्यक्ति की आजादी को खत्म करने के लिए एक राजनीतिक दल की सोची-समझी साजिश है। हम इस सुपर आपातकाल की निंदा करते हैं।” तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि फिल्म उद्योग के सभी लोगों को एक साथ आकर एक स्वर में इसका विरोध करना चाहिए। भंसाली पर राजपूत रानी पद्मावती को लेकर इतिहास से छेड़छाड़ करने का आरोप है, हालांकि वह लगातार इस बात से इनकार करते आए हैं।

फिल्म पहले एक दिसंबर को रिलीज होने वाली थी, लेकिन फिलहाल इसकी रिलीज टाल दी गई है।
फिल्म निर्माताओं को केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड से भी हरी झंडी नहीं दिखाई गई है. बोर्ड ने कहा है कि निर्माताओं की तरफ से किया गया आवेदन अपूर्ण है। तो अब ये देखना दिलचस्प होगा कि ममता बनर्जी के इस बयान के बाद कितने फिल्मी उद्योग के लोग सनजय लीला भंसाली के साथ आवाज़ उठाने के लिए खड़े होते है। साथ में ये जानना भी दिलचस्प होगा कि 1 दिसंबर से हटाकर ‘पद्मावती’ की नई रिलीस डेट क्या रखी जाती है और उस नई तारीख पर कितने लोग फ़िल्म को देखने के लिए थेटर्स की तरफ रुख करते हैं।

LEAVE A REPLY