शत्रुघन सिन्हा ने आज तक नही देखी ‘शोले’ और ‘दीवार’, बताई वज

0
202

फिल्मों में खलनायक के रोल से अपनी पहचान बनाने पर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, मैंने विेलेन के रोल में होकर कुछ अलग किया. मैं पहला विेलेन था, जिस के परदे पर आते ही तालियां बजती थीं. ऐसा कभी नहीं हुआ. विदेशों के अखबारों में भी ये आया कि पहली बार हिन्दुस्तान में एक ऐसा खलनायक उभरकर आया, जिस पर तालियां बजती हैं। अच्छे अच्छे विलेन आए, लेकिन कभी किसी का तालियों से स्वागत नहीं हुआ।

सिन्हा ने कहा कि फिल्म ‘शोले’ और ‘दीवार’ ठुकराने के बाद ये फिल्में अमिताभ बच्चन ने की और वह सदी के महानायक बन गए। ये फिल्में न करने का अफसोस उन्हें आज भी है लेकिन खुशी भी है कि इन फिल्मों ने उनके दोस्त को स्टार बना दिया. शत्रुघ्न के मुताबिक यह फिल्में न करना उनकी गलती थी और इस गलती को ध्यान में रखते हुए उन्होंने कभी भी इन दोनों फिल्मों को नहीं देखा।

हालांकि इस बात को सभी जानते है कि शतुघन सिंह और अमिताभ बच्चन की आपस में ज्यादा नही बनती है लेकिन पहले इस रिश्ते में सब कुछ ठीक था तो दोनों की लड़ाई भी इसकी असल वजह नही है, ‘शोले’ और ‘दीवार’ को नही देखने की असल वजह दरअसल शत्रुघन सिन्हा का इन फिल्मों को ठुकरा देना है, सिन्हा ने कहा कि फिल्म ‘शोले’ और ‘दीवार’ ठुकराने के बाद ये फिल्में अमिताभ बच्चन ने की और वह सदी के महानायक बन गए।

शत्रु ने कहा कि ये फिल्में न करने का अफसोस उन्हें आज भी है लेकिन खुशी भी है कि इन फिल्मों ने उनके दोस्त को स्टार बना दिया. शत्रुघ्न के मुताबिक यह फिल्में न करना उनकी गलती थी और इस गलती को ध्यान में रखते हुए उन्होंने कभी भी इन दोनों फिल्मों को नहीं देखा।

तो ये जानना सही में मज़ेदार होगा कि क्या कभी शत्रुघ्न सिन्हा ‘शोले’ और ‘दीवार’ जैसी सुपरहिट फिल्मों को देखेंगे।

LEAVE A REPLY